Ad Clicks : Ad Views :
Home / Uncategorized / केंद्र की मोदी सरकार पर बरसे कंहैया-जिग्नेश

केंद्र की मोदी सरकार पर बरसे कंहैया-जिग्नेश

/
/
307 Views

Kendra ki Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh

पलामू में मना महान नवंबर क्रांति शताब्दी वर्ष समारोह

Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh

मेदिनीनगर : जवाहर नवोदय विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष सह देश के चर्चित और विवादित नेता कंहैया कुमार और गुजरात के उभरते नेता जिग्नेश मेवानी गुरूवार को पलामू की धरती से केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर भड़ास निकाला। दरअसल, स्थानीय शिवाजी मैदान में गुरूवार को वामपंथियों की ओर से महान नवंबर क्रांति शताब्दी वर्ष समारोह का आयोजन किया गया था। इसकी अध्यक्षता माले के राज्य सचिव रविंद्र भुईंया व संचालन दिवाड़ी मजदूर यूनियन के संरक्षक राजीव कुमार ने किया। इसमें शहर समेत आंचलिक इलाकों से बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। दो वक्ता बतौर मुख्य समारोह में शामिल हुए थे।

प्रधानमंत्री को बताया लोकतंत्र का हत्यारा

Kendra ki Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh – वक्ताओं केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र का हत्या बताया। कहा कि सरकार झूठ की पुलिंदा पर संचालित है। गुजरात मॉडल पर तीखी प्रतिक्रियाएं जाहिर की गईं। कंहैया ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ देश के 50 करोड़ युवाओं को एकजुट होने का आहवान किया। समारोह के अंत में राजीव कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम समापन की घोषणा की। मौके पर शैलेंद्र कुमार, भाकपा के राज्य केडी सिंह, माले के जिला सचिव आरएन सिंह, भाकपा के जिला सचिव रूचिर तिवारी, सरफराज अहमद, उपेंद्र मिश्रा, जितेंद्र सिंह, राजू रंजन, रविशंकर आदि उपस्थित थे।

झारखंड स्थापना पर मन रहा भाजपा दिवस : कंहैया

Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jigneshमेदिनीनगर : झारखंड का स्थापना दिवस 15 नवंबर को मनाया गया। इसे लेकर रघुवर सरकार की ओर से हर तरफ होर्डिंग्स-बैनर लगाए गए। राज्य की स्थापना का श्रेय बिरसा मुंडा को जाता है। बावजूद किसी भी बैनर-पोस्टर में झारखंड के धरोहरों का चेहरा नहीं दिखा। हैरत की बात है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास का ही चेहरा सभी तरफ छाया हुआ है। उक्त बातें जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कंहैया कुमार ने कही। स्थानीय शिवाजी मैदान में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि झारखंड स्थापना दिवस पर बीजेपी वालों का कब्जा हो गया। इसे बीजेपी दिवस के रूप में मनाया गया है।

उन्होंने देश की मोदी सरकार पर निशाना साधा। कहा कि देश में गरीबी, बेरोजगारी, भय, भूख व भ्रष्टाचार का आलम है। भूखमरी से लोग मर रहे हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। बावजूद सरकार जनता से गाय तक का आधार बनाने में व्यस्त है। कहा कि सोना लेने के लिए आधार की जरूरत नहीं है और बिना आधार के गरीब को अनाज तक मयस्सर नहीं हो रहा है। कंहैया कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोबाइल मोड से संचालित हो रहे हैं। समय-समय पर उनका मोड बदलता रहता है।

भारत का पहला आतंकवादी था गांधी का हत्यारा गोटसे : कंहैया

जनमुद्दों के सवाल से जनता का ध्यान भटकाने में सरकार को महारत हासिल है। उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी के सवाल पर सरकार की खिंचाई की। बेरोजगारी के सवाल पर कंहैया ने कहा कि एमबीए करने के बावजूद 50 प्रतिशत युवा को नौकरी नहीं मिल रही है। चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार सरकार एक कदम भी आगे नहीं बढ़ी है। भारत की जनता सब समझ चुकी है। डर से लोग कुछ नहीं बोल रहे हैं। कहा कि देश की 125 करोड़ जनता का धर्म है कि वे भाजपा को हराएं। अब अगर भाजपा का सर्जरी नहीं हुआ तो समाज बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत का पहला आतंकवादी महात्मा गांधी का हत्यारा नाथु राम गोटसे था। अब भारतवासियों को पूंजीपतियों की सरकार से आजादी चाहिए।

दंगा-फर्जी मुठभेड़ का मॉडल है गुजरात : जिग्नेश

Kendra Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh

जुल्म व सितम के खिलाफ सड़क पर उतरी है गुजरात की जनता – Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh

मेदिनीनगर : जुल्म व सितम झेल कर लाचार हो चुकी गुजरात की जनता अब सड़क पर उतर चुकी है। गुजरात को विकास का मॉडल बताया जाता है। हालांकि सच्चाई है कि दंगा व फर्जी मुठभेड़ के अलावा अडानी-अंबानी के तलवे चाटने का मॉडल गुजरात है। उक्त बातें गुजरात के चर्चित नेता जिग्नेश मेवानी ने कही। कहा कि गुजरात सरकार ने गरीबी बढ़ाई है। इसका प्रमाण है कि 14 वर्ष पूर्व 26 लाख लोग बीपीएलधारी थे। अब 40 लाख लोग गरीबी रेखा के नीचे पहुंच चुके हैं। कहा कि गुजरात में झूठ की पुलिंदा के सहारे विकास मॉडल बनाया गया। हकीकत है कि भाजपा सरकार घर वापसी, लव जिहद व गाय माता की बात करती है।

गुजरात में छह हजार से अधिक किसान कर चुके हैं आत्महत्या – Modi Sarkar par Barse Kanhaiya-Jignesh

यह सरकार जनता को वेबकूफ बनाने वाली है। कहा कि गुजरात मॉडल एक छलावा है। 10 फीसद युवाओं को भी रोजगार नसीब नहीं हुआ। शर्म की बात है कि गुजरात में छह हजार से अधिक लोगों ने आत्महत्या कर ली है। उन्होंने पलामूवासियों से आहवान किया कि आंदोलन की रणनीति बनाई जाए। मिलकर जोरदार आंदोलन छेड़ा जाएगा।

न्यूज़ इन हिन्दी, हिंदी न्यूज़, हिन्दी समाचार, टुडे न्यूज़, लेटेस्ट न्यूज़, करंट न्यूज़ इन हिंदी, today latest news in hindi, hindinews, hindi samachar, today breaking news in hindi, all hindi news paper, hindi news live, india news hindi, news update in hindi, news headlines in hindi, top news in hindi, today hindi news paper,

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
  • Buffer
  • stumbleupon

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *